sidhu moose wala death 

पंजाब सरकार द्वारा कई अन्य लोगों के साथ उनके सुरक्षा कवर को कम करने के कुछ दिनों बाद, कांग्रेस नेता और लोकप्रिय पंजाबी गायक शुभदीप सिंह सिद्धू मूसेवाला की रविवार को मनसा के पास गोली मारकर हत्या कर दी गई।

मूसेवाला अपनी थार गाड़ी से जा रहे थे। तभी एक बोलेरो और एक कार वहां पहुंच गई। दोनों गाड़ियों ने सिंगर की गाड़ी को ओवरटेक किया और रोक लिया 

मूसेवाला के पिता ने बताई मर्डर की कहानी

समें से सात हमलावर बाहर निकले। छह ने आसपास को कवर किया और एक ने ताबड़तोड़ गोलियां बरसाईं। 

सिंगर के पिता बलकौर सिंह (Balkaur Singh) ने बेटे की हत्या की पूरी वारदात को लेकर बयान दिया है। उन्होंने बताया कि उनके इकलौते बेटे की बेरहमी से हत्या कर दी गई और वह कुछ नहीं कर सके 

सिंगर सिद्धू मूसेवाला 

जब उन्हें पता चला कि उनका बेटा बिना गनमैन ही घर से निकल गया है तो वह पीछे-पीछे दौड़े लेकिन तब तक बेटे को हमलावरों ने घेर लिया था और उसे गोलियों से भून डाला 

बलकौर सिंह ने बताया कि उनके बेटे मूसेवाला को लगातार धमकियां मिल रही थी। फिरौती की भी मांग की जा रही थी। इसमें लॉरेंस बिश्नोई और अन्य गिरोह शामिल थे। यही कारण था कि  

हमने बुलेट प्रूफ फॉर्च्यूनर खरीदी थी लेकिन न जाने क्यों बेटा थार जीप लेकर निकल गया। काश वो फॉर्च्यूनर से निकला होता तो आज हमारे बीच होता। उन्होंने बताया कि रविवार को गुरप्रीत सिंह और गुरविंदर सिंह घर पर आए थे। तीनों बात कर रहे थे और बात करते-करते ही थार जीप लेकर निकल गया। गनमैन को भी साथ नहीं ले गया 

जब मैंने गनमैन को घर देखा तो उसे बुलाकर पूछा कि सिद्धू कहां है। तब उसने बताया कि वह दोस्तों के साथ निकल गए हैं। मेरी तो सांस अटक गई। मैंने उसे तुरंत अपनी गाड़ी में बैठाया और बेटे के पीछे-पीछे हो लिया लेकिन जब हम जवाहरके गांव पहुंचे  T 

DL4CA-3414 नंबर की एक कार बेटे की गाड़ी के पीछे-पीछे जा रही थी। उसमें चार लोग बैठे थे। हम मूसेवाला की गाड़ी से काफी पीछे थे। जब सिद्धू गाड़ी लेकर बरनाला के मोड़ पर पहुंचा तो वहां पहले से ही बोलेरों में चार हमलावर तैयार थे। बोलेरो  का नंबर PB05AP-6114 था